किरायेदारों का वेरिफिकेशन शुरू पकड़े गए 82 मकान मालिक

0
53

देहरादून। उत्तराखंड की राजधानी देहरादून में चोरी, लूटपाट, छिनतई जैसे छिटपुट अपराधों ने पुलिस की नाक में दम कर रखा है। बढ़ती आपराधिक घटनाओं पर रोक लगाने के लिए पुलिस ने अब सख्ती करने का फैसला किया है। इसके तहत सबसे पहले शहर के अलग-अलग इलाकों में किराये पर रहने वालों का सत्यापन किया जा रहा है। इस दौरान पुलिस ने पाया कि बड़ी संख्या में मकान मालिक अपने यहां रहने वाले किरायेदारों का सत्यापन नहीं कराते हैं। पुलिस ने आज ऐसे 82 मकान मालिकों के ऊपर 8 लाख 20 हजार रुपए का जुर्माना लगाया है।
देहरादून में बुधवार को पुलिस ने कोतवाली इलाके में वेरिफिकेशन अभियान चलाया, जिसमें 552 मकान मालिकों की जांच की गई। कोतवाली प्रभारी रितेश शाह ने थाना इलाके में सत्यापन अभियान के लिए 7 टीमें उतारी थीं। इन टीमों को निर्देश दिया गया था कि जिन मकान मालिकों ने अपने किरायेदारों का सत्यापन नहीं कराया है, उनके खिलाफ पुलिस अधिनियम के तहत नियमों का उल्लंघन करने की कार्रवाई की जाए। पुलिस की इन टीमों ने कोतवाली क्षेत्र में चयनित चौकी खुर्बुरा अंतर्गत मनु गंज, लुनिया मोहल्ला, अंसारी मार्ग, चाट वाली गली जगहों पर जांच की। पुलिस की जांच के दौरान पता चला कि कुल 552 मकान मालिकों में 82 ने अपने मकान में रहने वाले किरायेदारों का सत्यापन नहीं कराया था। देहरादून पुलिस ने इन मकान मालिकों के विरुद्ध उत्तराखंड पुलिस एक्ट के तहत कार्रवाई की और सभी पर 8 लाख 20 हजार रुपए का चालान किया गया। कोतवाली प्रभारी रितेश शाह का कहना है कि आगे भी यह अभियान चलाया जाएगा। उन्होंने कहा कि इलाके में रहने वाले सभी मकान मालिकों से आग्रह है कि वे अपने किरायेदारों का सत्यापन करा लें. अन्यथा जांच के दौरान नियम के उल्लंघन पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी।