चार माह से फरार पार्षद शौकत अली के घर की हुई कुर्की

0
79

देहरादून। नगर निगम ऋषिकेश के पार्षद शौकत अली के घर की पुलिस ने कुर्की कर घरेलू सामान जब्त कर लिया। चार माह पूर्व बैराज कालोनी में एक विधवा के घर में घुसकर मारपीट और उसकी पुत्री की गर्भस्थ शिशु की मौत के मामले में भाजपा पार्षद शौकत अली सहित पांच आरोपितों के खिलाफ मुकदमा किया गया था। घटना के बाद से सभी लोग फरार थे। बाद में दो ने न्यायालय में आत्मसमर्पण कर दिया था। पार्षद,उसकी पुत्री और पुत्री की सास अभी तक फरार है। न्यायालय के आदेश पर पुलिस ने कुर्की की कार्यवाही को पूरा किया।बैराज कालोनी ऋषिकेश निवासी विधवा बबीता देवी ने इस वर्ष नौ जुलाई को बैराज कालोनी निवासी क्षेत्रीय पार्षद शौकत अली, उसके दामाद परवेज अंसारी, दामाद के भाई गोलू उर्फ शाहनवाज, पार्षद की पुत्री साजिया और उसकी सास कमरु निशा के विरुद्ध घर में घुसकर मारपीट व अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया था। इस घटना में बबीता देवी की पुत्री के गर्भस्थ शिशु की कुछ दिन बाद मौत हो गई थी। आरोप था कि मारपीट के दौरान महिला की पुत्री को अंदरूनी चोट आई थी।पुलिस ने कई मर्तबा पार्षद के ठिकानों पर दबिश दी मगर वह हाथ नहीं आया। जिसके बाद पुलिस ने न्यायालय में शौकत अली की संपत्ति कुर्की के लिए आवेदन किया। न्यायालय के आदेश पर एक सप्ताह पूर्व पुलिस ने शौकत के घर पर नोटिस चस्पा कर दिया था। नोटिस जारी करने की समय अवधि समाप्त होने के बाद भी वह पुलिस के हत्थे नहीं आया। इस मामले में इस बीच शौकत के दामाद परवेज अंसारी और दामाद का भाई गोलू उर्फ शाहनवाज ने न्यायालय के समक्ष आत्मसमर्पण कर दिया था।