आफिसर्स एनडीए एकेडमी के स्टाफ पर एक और मुकदमा दर्ज

0
72

देहरादून। बच्चों को एनडीए करवाने के नाम पर अभिभावकों के साथ धोखाधड़ी करने के मामले में प्रेमनगर थाना पुलिस ने प्रेमनगर स्थित आफिसर्स एनडीए एकेडमी के स्टाफ के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर लिया है। इससे पहले एकेडमी स्टाफ के खिलाफ मार्च महीने में भी एक मुकदमा दर्ज किया जा चुका है।
नागपुर (महाराष्ट्र) निवासी सुनील हरीशचंद्र घुरेड़ ने पुलिस महानिदेशक को शिकायत दी थी कि आफिसर एनडीए एकेडमी के स्टाफ प्रदीप सिंह, विक्रांत चौधरी व नेहा मान ने उनसे बेटे के दाखिले से पूर्व झूठ बोला। स्टाफ ने बताया था कि सहस्रधारा रोड स्थित ब्लू माउंटेन स्कूल एकेडमी की संपत्ति है और दाखिले के बाद उनके बेटे की पूरी ट्रेनिंग व शिक्षा इसी परिसर में होगी। इतना ही नहीं, उन्होंने मसूरी रोड स्थित पेसलवीड स्कूल की संपत्ति को भी अपना बताया था। स्टाफ की बातों में आकर उन्होंने बेटे प्रणय का दाखिला एकेडमी में करा दिया। सुनील ने बताया कि एकेडमी ने जो ब्रोशर छपवाया था, उनमें भी इन कालेजों की फोटो थी। ब्रोशर में स्वीमिंग पूल, फायरिंग रेंज, हार्स राइडिंग, जिम व कैंटीन की सुविधा का जिक्र था। एकेडमी में बेटे के दाखिले के लिए उन्होंने दो लाख 80 हजार रुपये और एनडीए की कोचिंग फीस के रूप में 40 हजार दिए।
स्टाफ ने बताया था कि एनडीए की ट्रेनिंग के साथ 11वीं और 12वीं की पढ़ाई भी कराएंगे। नौ मई 2021 को प्रणय ने स्वजन को बताया कि ब्लू माउंटेन व पेसलवीड के बजाय उसे किसी और जगह छोटे से कमरे में पढ़ाया जाता है। भरपेट भोजन भी नहीं दिया जाता। कई बार उसे भी अन्य बच्चों के साथ रात में भूखे सोना पड़ता है। बीमार होने पर दर्द निवारक दवा दी जाती थी। इससे प्रणय की किडनी में सूजन आ गई। आरोपितों ने यह भी नहीं बताया कि प्रणय का दाखिला किस स्कूल में करवाया है। बीते आठ मार्च को हास्टल में कुछ युवकों ने प्रणय को इतनी बुरी तरह पीटा कि उसका जबड़ा ही टूट गया। एकेडमी स्टाफ ने इलाज के लिए प्रणय को सुभारती अस्पताल में भर्ती करवाया। जहां बताया गया कि गिरने से चोटें आई हैं।