सड़कों के सुधार के लिए दिए सीएम के सख्त निर्देश

0
168

देहरादून। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने आज सचिवालय में बीआरओ, पीडब्ल्यूडी व प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क परियोजना और वन विभाग के कार्यों की समीक्षा बैठक की। बिना तैयारी के बैठक में पहुंचे अधिकारी जब उनके सवालों का संतोषजनक उत्तर नहीं दे सके तो सीएम ने कहा कि जब तक राज्य के अंतिम छोर तक अच्छी सड़कें नहीं बन जाती है तब तक न मैं खुद चौन से बैठूंगा और न आपको चौन से बैठने दूंगा। उन्होंने राज्य की सड़कों की खराब स्थिति पर चिंता जाहिर करते हुए कहा कि सड़कों के सुदृढ़ीकरण काम में तेजी लाई जाए तथा सभी विभागों के बीच एक समन्वय समिति का गठन किया जाए।
मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना और पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों से कहा कि चाहे बात चारधाम ऑल वेदर रोड की हो या अन्य नेशनल हाईवे अथवा ग्रामीण क्षेत्रों की सड़कों की जब तक राज्य के अंतिम छोर तक अच्छी सड़कें नहीं बन जाती है वह उन्हें चौन से नहीं बैठने देंगे। उन्होंने कहा कि बिना सड़क को बेहतर बनाए न पलायन रोका जा सकता है न बिना अच्छी कनेक्टिविटी के विकास को गति मिल सकती है। मुख्यमंत्री ने कहा कि सड़कों के सुदृढ़ीकरण और निर्माण कार्य में तेजी लाने और निर्माण की गुणवत्ता का ध्यान रखा जाए।
मुख्यमंत्री ने वन विभाग, पीडब्ल्यूडी और बीआरओ के बीच बेहतर तालमेल के लिए एक समन्वय कमेटी गठन के भी निर्देश दिए, जिससे और बेहतर ढंग से काम को आगे बढ़ाया जा सके। उन्होंने कहा कि हमें जनता ने केंद्रीय परियोजनाओं के काम के कारण ही वोट दिया है इसलिए केंद्रीय योजनाओं पर और अधिक काम करने की जरूरत है। उन्होंने राज्य की सड़कों की खराब स्थिति को शीघ्र सुधारने के निर्देश दिए हैं।
मुख्यमंत्री ने आज वन विभाग की भी समीक्षा बैठक ली। जिसमें वनाग्नि और गुलदार के हमले को रोकने के बेहतर इंतजाम करने को कहा। उन्होंने कहा कि प्रदेश में कहीं भी बच्चों पर गुलदार के हमले की खबर आई तो इसके लिए अधिकारी जिम्मेदार होंगे। सीएम ने भूस्खलन जोन पर रिपोर्ट तैयार करने को कहा है। उन्होंने कहा कि चारधाम यात्रा से पूर्व सड़कों की स्थिति को बेहतर बनाया जाए।