दिगंबरत्व में ही है उत्तम अकिंचन धर्म’- महेंद्र जैन

0
52

देहरादून। पर्युषण पर्व के नवें दिन आज सभी जिनालयों में उत्तम अकिंचन धर्म की आराधना की गई प्रातः काल सभी जिन मंदिरों में श्रीजी का अभिषेक शांति धारा एवं नित्य नियम पूजन किया गया, श्री आदिनाथ दिगंबर जैन पंचायती मंदिर जी माजरा में किए जा रहे दस धर्म विधान की। पूजा में उत्तम अकिंचन धर्म की विशेष पूजा की गई, विधान आचार्य पंडित महेंद्र जैन ने अपने उद्बोधन में अकिंचन धर्म का महत्व समझाया। उन्होंने बताया कि सामान्य जीवन में हम यह मानते है की ये मेरा घर है मेरी फेक्ट्री है दुकान है,भौतिक साधनों को और सांसारिक रिश्तों को अपना मानते है और इसी मोह में फंसे रहते है,जबकि वास्तविकता यह है कि यह शरीर तक हमारा नही यह भी एक समय पश्चात हमे छोड़ देता है हमे निराकार भाव मन में रखते हुए जीना चाहिए,जैसे हम किसी होटल में कमरा किराए पर लेकर ठहरते है ऐसे ही हम इस संसार में आए है और अपना समय व्यतीत करके चले जायेंगे। संध्याकालीन कार्यक्रम की श्रंखला में श्री जी की भव्य संगीत मय आरती की गई।आज के संध्याकालीन सांस्कृतिक कार्यक्रम श्री जैन धर्मशाला गांधी रोड में आयोजित किए गए, पहले मंदिर जी मैं श्री महावीर भगवान जी की आरती की गई,इसके बाद रजनी जैन पिंकी संयोजक महिला मंडल माजरा द्वारा थाल सजाओ प्रतियोगिता आयोजित की गई , धार्मिक प्रश्न मंच, एवम बच्चो द्वारा फैंसी ड्रेस प्रतियोगिता एवम् सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए गए। सभी प्रतिभागियों को पुरस्कार देकर सम्मानित किया गया ।इसकार्यक्रम में स्तुति जैन सी ए , एवम् डॉक्टर अपूर्वा जैन का विशेष सहयोग रहा।इस अवसर पर जैन धर्मशाला के अध्यक्ष प्रवीण जैन मंत्री संदीप जैन,जैन समाज के महामंत्री हर्ष जैन श्री नरेश चंद जैन डॉक्टर संजीव जैन, जिन भवन के पूर्व अध्यक्ष अनिल जैन रोचीपुरा अजय जैन ओबीसी सुनील जैन अमित जैन देवलोक अभिषेक जैन संजय जैन मुकेश जैन मीता जैन अंजलि जैन मधु जैन सारिका जैन कौशल जैन रेखा जैन निर्मल जैन रेखा जैन सुधा जैन रीना जैन आदिश जैन राहुल जैन एवं माजरा मंदिर समिति के अध्यक्ष दिनेश जैन मंत्री प्रवीण जैन प्रतीक जैन सुनील जैन सहित अनेक श्रद्धालु उपस्थित थे । कार्यक्रम के अंत में साधु सेवा समिति ने रजनी जैन को बहुत भव्य और रोचक कार्यक्रम आयोजित करने के लिए धन्यवाद ज्ञापित किया स