अवैध वसूली करने वाला फर्जी पुलिस कांस्टेबल गिरफ्तार

0
199

देहरादून। राजधानी देहरादून में स्थानीय व्यपारियों की शिकायत पर वाहन चालकों और दुकानदारों से वसूली करने वाले फर्जी कॉन्स्टेबल को गिरफ्तार किया गया है। गिरफ्तार फर्जी कॉन्स्टेबल बसंत विहार थाना क्षेत्र में रेड़ी-ठेली व्यवसायियों और स्थानीय दुकानदारों पर रौब झाड़कर वसूली कर रहा था। परेशान व्यापारियों ने इसकी जानकारी पुलिस के उच्चाधिकारियों को दी। इसके बाद पुलिस ने फर्जी कॉन्स्टेबल को कावली रोड के कच्चे रास्ते से गिरफ्तार किया है।
गिरफ्तार आरोपी के पास से पुलिस ने उत्तराखंड पुलिस का फर्जी आई कार्ड, उत्तराखंड पुलिस पैटर्न सिपाही की वर्दी, खाकी जैकेट, खाकी पैंट और काले रंग की बेल्ट, काले रंग के जूते, एक विजिटिंग कार्ड, एक होलस्टर और एक प्राइवेट हैंडसेट वॉकी टॉकी भी बरामद किया है। बंसत विहार व्यापारियों ने पुलिस के उच्चाधिकारियों को सूचना दी कि एक व्यक्ति पुलिस के नाम पर ठेली और फड़ वालों से और वाहन चालकों आदि से पैसे वसूल रहा है। व्यक्ति पुलिस की वर्दी धारण किए है, जो संदिग्ध प्रतीत हो रहा है। सूचना पर पुलिस व्यक्ति की तलाश करते हुए शास्त्री नगर खाली से कावली गांव जाने वाले कच्चे रास्ते पर पहुंची, तो एक व्यक्ति पुलिस की वर्दी में आता दिखाई दिया, जिसको रोक कर चेक किया गया। पुलिस की पूछताछ में आरोपी व्यक्ति ने खुद को उत्तराखंड पुलिस का कॉन्स्टेबल बताते हुए पुलिस का आईडी कार्ड दिखाया। पोस्टिंग इत्यादि के संबंध में पूछताछ करने पर कोई भी संतोषजनक जवाब नहीं दे पाया। शक होने पर सख्ती से पूछताछ की गई तो व्यक्ति ने माफी मांगते हुए बताया गया कि साहब वो कोई पुलिस वाला नहीं है। उसका आई कार्ड फर्जी है। वो बेहद गरीब है और घर चलाने के लिए पुलिस का रौब दिखाकर चलते ठेली और वाहनों से चेकिंग के नाम पर वसूली कर अपना खर्चा चलाता है। इस संबंध में एसपी सिटी सरिता डोभाल ने बताया कि आरोपी का नाम मुकेश कुकरेती है, जो शास्त्री नगर सीमाद्वार का रहने वाला है। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ उचित कानूनी कार्रवाई कर केस दर्ज किया गया है।