तीन लाख की चरस के साथ तस्कर गिरफ्तार

0
49

देहरादून। राज्य में नशे पर लगाम लगाने के लिए डीजीपी के निर्देश पर अभियान चलाया जा रहा है. जिसको लेकर एसटीएफ टीम गठित की गई है। एसटीएफ टीम और अल्मोड़ा के थाना लमगड़ा की पुलिस टीम ने संयुक्त कार्रवाई करते हुए अल्मोड़ा के फाटक कस्बे के पास से नशा तस्कर पनीराम को गिरफ्तार किया है। आरोपी के पास से 4 किलो 300 ग्राम चरस बरामद हुआ है।
बता दें कि आरोपी इस चरस को पहाड़ों में कई जगहों से इकट्ठा कर तस्करी के लिए लाया था। पहले भी वह कई बार चरस की बड़ी खेप मैदानी क्षेत्रों में सप्लाई कर चुका है। एसटीएफ आरोपी के अपराधिक इतिहास का खंगालने में जुटी है। साथ ही चरस सप्लाई के संबंध में पूछताछ कर रही है। बता दें पूरे राज्य में एसटीएफ ने 2021 में अब तक नशा तस्करों के खिलाफ कुल 1135 मुकदमा पंजीकृत किया है, जिसमें 1,309 आरोपी की गिरफ्तारी हुई है। कार्रवाई में 186 किलो गांजा, 181 किलो डोडा, 11 किलो अफीम, 1.33 ग्राम हेरोइन, 1095 किलो गांजा, 12 किलो स्मैक, 17,448 नशीली गोलियां, 7,026 नशे की इंजेक्शन और 16,870 नशे के कैप्सूल बरामद किए जा चुके हैं। नशे के खिलाफ पहल करते हुए एसटीफ ने अब तक इन नशा तस्करों के पास से एक करोड़ से ऊपर के संपत्ति जब्त की है। इस साल एसटीएफ द्वारा एनडीपीएस एक्ट की धारा 27 ए, 29 के तहत नशीले पदार्थों के तस्करी मामले में 23 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है।एसटीएफ एसएसपी अजय सिंह ने बताया थाना पंतनगर क्षेत्र के अंतर्गत पकड़ी गई है। अब तक की सबसे बड़ी बरामदगी 31 किलो चरस मामले में एसटीएफ द्वारा रिपोर्ट भेजकर प्रवर्तन निदेशालय द्वारा मुकदमा पंजीकृत कराया जा चुका है। एसटीएफ द्वारा उत्तराखंड के दूरस्थ इलाकों में अफीम उगाने वालों पर नजर रखने के लिए उच्च तकनीक का प्रयोग किया जा रहा है। एसटीएफ ने नशीले पदार्थों की अवैध खेती के संबंध में सैटेलाइट इमेजरी से नियमित जानकारी के लिए एडीआरआईएन के साथ समन्वय स्थापित किया है।