तीन किमी पैदल चलकर अस्पताल पहुंची गर्भवती, गेट पर दिया बच्ची को जन्म

0
170

श्रीनगर। पौड़ी के श्रीनगर में मूलभूत स्वास्थ्य सुविधाओं के अभाव में एक गर्भवती व उसकी बच्ची की जान पर बन आई। प्रसव की पीड़ा पर महिला ने अस्पताल के गेट पर ही बच्ची को जन्म दे दिया। जन्म देते ही नवजात महिला के कपड़ों में फंस गई। जिसके बाद तुरंत डॉक्टरों ने नवजात बच्ची और महिला को अस्पताल में भर्ती कराया।
दरअसल टिहरी के कीर्तिनगर ब्लॉक के कांडी कमाल गांव की गर्भवती को प्रसव पीड़ा होने पर गांव से 3 किमी पैदल चलकर कीर्तिनगर मुख्यमार्ग पहुंचना पड़ा। इसके बाद महिला 108 एंबुलेंस के माध्यम से संयुक्त अस्पताल पहुंची। इस दौरान महिला को पूरे 45 मिनट लगे. लेकिन महिला जैसे ही अस्पताल के गेट पर पहुंची, उसने 7 माह की बच्ची को जन्म दे दिया। इस दौरान बच्ची महिला के कपड़ों में ही फंस गई। महिला के चिल्लाने पर अस्पताल की गाइनेकोलॉजिस्ट डॉ. अंकिता मौके पर पहुंची और महिला व नवजात को अस्पताल में भर्ती कराया। हालांकि अस्पताल में बच्चों का एनआईसीयू ना होने के कारण बच्ची को हायर सेंटर मेडिकल कॉलेज श्रीकोट रेफर कर दिया गया है। फिलहाल बच्ची को डॉक्टरों के ऑब्जर्वेशन में 2 दिन तक रखा जाएगा। संयुक्त अस्पताल की गाइनेकोलॉजिस्ट डॉ. अंकिता के मुताबिक फिलहाल मां और बच्ची दोनों सुरक्षित हैं। लेकिन बच्ची का जन्म समय से पहले होने के चलते बच्ची का वजन कम है। बच्ची पूरी तरह से विकसित नहीं हो पाई है।